caneup : यूपी सरकार का छोटे गन्ना किसानो के लिए तोहफा अब 72 क्विंटल किया छोटे किसानो का सट्टा ?

caneup | caneup.in | upcane | upcane.in | up cane | cane up | up cane.in | cane up.in | caneup 2023 24 | caneup 2023-24 | cane enquiry | enquiry caneup in | caneup in | cane up.in | cane up 2023 24 | cane up 2023-24 | upcane 2023-24 | up cane 2023-24 | 

caneup
caneup | upcane | cane up| cane up.in | caneup 2023 24

 गन्ना किसानो के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने दी विशेष तहजीब छोटे गन्ना किसानो को पहले मिल रही है गन्ना पर्चियां , उत्तर प्रदेश में 10.74 लाख छोटे गन्ना किसानो को अब तक लगभग 19.21 लाख (एस.ऍम.एस) गन्ना पर्ची जारी की जा चुकी है छोटे किसानो को मिलने वाली सुविधाओं से गन्ने की समय से चीनी मिलो को हो रही है आपूर्ति . पेराई सत्र 2023-24 में 72 कुंतल वाले गन्ना सट्टा किसानो को माना गया छोटा किसान .

उत्तर प्रदेश के 45 गन्ना जिलों में अब लगभग 46 लाख गन्ना किसान मौजूद है । जिनमे से 10.74 लाख छोटे किसान पंजीकृत है । सबसे ज्यादा छोटे गन्ना किसानो वाले जिले सीतापुर , कुशीनगर , लखीमपुर है और सबसे कम छोटे गन्ना किसान कासगंज , बदायूं  ,देवर‍िया  में पंजीकृत है । छोटे गन्ना किसानो के लिए गन्ना विभाग ने जल्दी और ज्यादा गन्ना पर्ची जारी कर रहा है 

गन्ना मंत्री ने छोटे किसानो को बारे में क्या कहाँ | caneup |

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में गन्ना मंत्री लक्ष्मी  नारायण चौधरी ने बताया की गन्ना विभाग गन्ना विभाग किसानो के हित में दिन रात काम कर रहा है । सरकार द्वारा छोटे गन्ना किसानो को ज्यादा प्राथमिकता दी जा रही है । ये उत्तर प्रदेश सरकार की किसान योजना का भी नतीजा है । गन्ना विभाग द्वारा पेराई सत्र 2023-24 से लगभग 10.74 लाख पंजीकृत छोटे किसानो के हित को ध्यान में रखते हुए गन्ना सट्टा एवं आपूर्ति निति में 62 कुंतल की जगह अब 72 कुंतल के सट्टा धारको को छोटे किसान का दर्जा दिया है । caneup

caneup : यूपी सरकार का छोटे गन्ना किसानो के लिए तोहफा अब 72 क्विंटल किया छोटे किसानो का सट्टा ?

पेराई सत्र 2023-24 में गन्ना किसानो का आंकड़ा | caneup | 

वर्तमान पेराई सत्र 2023-24 के अंतर्गत अब तक उत्तर प्रदेश में पंजीकृत 46 लाख गन्ना किसानो को 2.75 करोड़ गन्ना पर्चियां जारी की गयी है । जिसमे 10.74 लाख छोटे गन्ना किसानो को मिलने वाली 19.20 लाख (एस.ऍम.एस) गन्ना पर्ची जारी हो चुकी है स्मार्ट गन्ना किसान व्यवस्ता के माध्यम से किसानो की गन्ने की आपूर्ति चीनी मिलो को सही समय पर हो रही है ।

सहकारी गन्ना समितियों के पर्ची को किसानो तक पहुंचने के लिए हर संभव कार्य किया जा रहा स्मार्ट गन्ना किसान प्रोजेक्ट गन्ना किसानो के लिए मिल का पत्थर साबित हो रहा है । छोटे गन्ना किसानो पर एक नजर डाले तो उत्तर प्रदेश में 45 जिलों में गन्ना के उत्पाद किया जाता है । सबसे ज्यादा छोटे गन्ना किसानो वाले जिले सीतापुर , कुशीनगर , लखीमपुर है और सबसे कम छोटे गन्ना किसान कासगंज , बदायूं  ,देवर‍िया  में पंजीकृत है । caneup

वर्तमान सट्टा निति के अनुसार छोटे गन्ना किसानो को चीनी मिल चलने के 45 दिन के भीतर गन्ना पर्ची देने का प्रावधान किया गया ताकि छोटे किसानो और नए किसानो को कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पढ़े गन्ना विभाग द्वारा किसानो को सभी योजनाए मुहैया कराई जा रहे है । पहले गन्ना किसानो को गन्ना आपूर्ति करने में दिक्कत का सामना करना पढता था लेकिन अब caneup | e ganna app और स्मार्ट गन्ना किसानो के द्वारा अपनी जानकारी चेक कर सकते है ।

गन्ना विभाग ने इस साल बनाये कुछ खास रिकार्ड्स | caneup | 

उत्तर प्रदेश पुरे भारत में सबसे ज्यादा गन्ने का उत्पाद करने वाला राज्य है उत्तर प्रदेश अपनी चीनी दुनिया के कोने कोने में सप्लाई करता है । चीनी और इथेनॉल के मामले में भी उत्तर प्रदेश का पहला नंबर आता है ये सब गन्ना विभाग और उत्तर प्रदेश सरकार की वजह से संभव हो पाया । पेराई सत्र 2023-24 में अब तक गन्ना विभाग द्वारा किये गए कुछ कार्यों पर एक नजर 

  • गन्ना किसानो द्वारा (www.caneup.in) https://enquiry.caneup.in/ पोर्टल पर अब तक 12.41 करोड़ बार गन्ने के आंकड़ों को देखा गया जो भारत में नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा है उत्तर प्रदेश गन्ने के अकड़े 79 देशो में काम कर रहे या रह रहे भारतीय देख रहे अपने गन्ने के आंकड़े । caneup
  • 12.41 लाख किसानो द्वारा E-GannaApp डाउनलोड करके उत्तर प्रदेश के गन्ने के आकड़ो को देखा जा रहा जो अपने आप में गन्ना विभाग के एक बढ़ी उपलब्धि मानी जा रही है ।
  • 229.43 करोड़ बार E-GannaApp  पर किसानो द्वारा गन्ने के आकड़ो को देखा गया जैसे की गन्ने की पर्ची , गन्ना सुर्वे , गन्ना कलैंडर, गन्ना भुगतान और गन्ना विभाग से जुड़ी सभी जानकारी को किसानो ने E-GannaApp के माध्यम से आसानी से देखा । 
  • 120 चीनी मिल पेराई सत्र 2023-24 के लिए सही ढंग से अपना कार्य कर रही है  और किसानो के लिए हर जरुरी संभव कार्य सरकार के नियम के अनुसार कर रही है ।
  • caneup पेराई सत्र 2023-24 में अब तक लगभग 193.31 लाख टन गन्ना की पेराई की जा चुकी है उत्तर प्रदेश गन्ना विभाग द्वारा जो सभी साल में अब तक सबसे ज्यादा है । 
  • 17.66 लाख टन इस सत्र में अब तक चीनी का उत्पादन किया जा चूका । अभी गन्ना मिलो को चालू हुए 1 महीना नहीं हुआ और गन्ना विभाग ने रिकार्ड्स की झड़ी लगा दी गन्ने की पर्ची से लेकर गन्ने के भुगतान तक किसानो को किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पढ़ रहा जो किसानो के लिए एक अच्छी खबर है । 

उत्तर प्रदेश सरकार ने अब तक गन्ने का भाव तय क्यों नहीं किया |caneup ?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने अब तक गन्ने के भाग को लेकर कोई घोषणा नहीं की नवंबर में एक सभा में मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने गन्ने के भाव को लेकर एक बयान दिया था की गन्ना किसानो के लिए गन्ने के भाव बढ़ने को लेकर सरकार ढांचा तैयार कर रही है जैसे ही सभी काम मुकम्मल हो जायेगा सरकार किसानो को गन्ना बढ़ोतरी को तोहफा देगी गन्ना विभाग ने किसानो को पेराई सत्र 2023 24 के लिए किसानो को 350 रुपए कुंतल के हिसाब से भुगतान करना चालू कर दिया है । caneup

दिसंबर तक मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ गन्ने के भाव की बढ़ोतरी कर सकते है क्योंकि 45 जिलों के गन्ना किसान सरकार को गन्ने के भाव को लेकर घेर रहे है क्योंकि पिछले 2 साल से सरकार ने गन्ने के भाव में कोई भी बढ़ोतरी नहीं की लेकिन इस पेराई सत्र 2023 24 में किसानो को सरकार से 25 से लेकर 30 रूपये तक बृद्धि के अनुमान है । caneup

Sharing Is Caring:

Leave a Comment

close button